Monday, September 14, 2015

किसका पेट भरना चाहते है?

किसका पेट भरना चाहते है?
हाजमोला ? कायम चूर्ण ? नित्यम चूर्ण ???
जैसा नाम वैसा काम। जो दवाई कायम - नित्य (हररोज ) लेनी पड़े क्या वो सही मायने में लाभकारी है ?
वो तो कुछ भी कहेंगे , जो मन चाहे वो खाओ - कितना भी खाओ …हम आपका हाजमा ठीक करेंगे !!! क्या खाक ठीक करेंगे !!!
आयुर्वेद कहता है की हर एक मनुष्य की पाचन क्षमता उसकी प्रकृति के अनुसार भिन्न भिन्न होती है। सुबह से शाम तक मजदुरी करनेवाला आदमी ६-१० रोटी आसानी से हजम कर सकता है , परन्तु बैठ कर ऑफिस वर्क करनेवाला मनुष्य क्या ८ रोटी हजम कर पायेगा ? बिलकुल नहीं …!
कौनसा भोजन कितनी मात्रा में लेना ये हमारे कार्य के अनुसार / व्यायाम के अनुसार / कितनी ऊर्जा व्यतीत करते हैं- उसके आधार पे तय करना आवश्यक है। सब कुछ खाकर हाजमा चूर्ण खाने से बेहतर है की जितना हजम कर सकते उतना ही भोजन लें।
एडवर्टाइस में कुछ भी बोलेंगे / बड़े बड़े दावे करेंगे - किन्तु तो पेट तो आपका खुद का है ना ???
उनका पेट भरना है या आपका पेट ??? - अब ये निर्णय मैं आप पर छोड़ता हूँ।
- वैद्य जिगर गोर (आयुर्वेद विशेषज्ञ )
helpline : 9724157515 / www.msayurved.com

‪#‎Ayurveda‬ ‪#‎Healthcare‬ ‪#‎AyurvedaTreatmentBhuj‬ ‪#‎DrJigarGor‬ ‪#‎AyurvedaTips‬



1 comment:

  1. Wonderful post about the problem many people face however this post would have been so much better had it been in a more universal language as you have international readers as well.

    ReplyDelete