Friday, May 31, 2013

Why Children are UNDERNOURISHED nowadays???

"Undernourishment" is found more in metro cities then in rural areas, due to bad habits of eating in children. Mostly children take meal while watching TV,

According to Ayurveda watching TV while eating  is totally contraindicated.
When your mind is busy somewhere you cant pay attention on taste-smell of food.
And thus the chemical process in-between mind and stomach-liver and bile duct will not occur in a manners.

Moreover generally children taking noodles, packed food , bakery items or junk food.
These packed food or instant food have zero nutrition values, besides that parents get shy of relief that their child is eating and stomach is full, but HOW n WHAT he is  eating that no body thinks for a second. 153159-child-watching-tv
Resulting poor nutrition, malnutrition, excessive fat, poor brain
developments.
Poor development of mind, poor immunity and re-currents infection.

Such things always hamper developments of Child in their max-development age.
Ayurveda lifestyle n medication can be more safest option in child care nowadays.


खान पान के अत्यंत गलत तरीकों से आजकल ग्रामीण विस्तारों से ज्यादा शहेरी विस्तारों के बच्चों में पोषक तत्वों की कमी ज्यादा पाई जा रही है I

ज्यादातर बच्चे भोजन लेते वक़्त टीवी देखेने की भयानक आदत रखते है, इसके साथ ज्यादातर माता पिता अपने बच्चों को इंस्टेंट नूडल्स या जन्क फ़ूड या फिर मेन्दे के खुराक ही देती है Iजिनकी नुट्रीशियन वैल्यू ज्यादतर शुन्य है।आयुर्वेद के नजरिये से यह बिलकुल सही नहीं है I

भॊजन करते वक़्त अगर आपका ध्यान टीवी या मोबाईल या एनी किसी जगह है तो आप भोजन का स्वाद / रस या सुगंध महसूस नहीं कर सकते, जिसके कारन आपके शारीर में पाचन के लिए होने वाले योग्य बदलाव नहीं होते है।

और इन सभी कारणों की वजह से बच्चों में पोषक तत्वों की कमी, बार बार बीमार गिरना, अक्सर खांसी-कफ या पेट की शिकायत करना , विकास के महत्वपूर्ण मापदंड न पाना, मानसिक विकास न होना  जैसे कई सारी  तकलीफों से बच्चा आक्रांत रहेता है I
और इन सब तकलीफों के लिए तुरन्त एन्टी बायोटिक्स के या सिंथेटिक विटामिन / या अन्य के सिरुप देने से उनके स्वस्थ्य को हम ज्यादा नुक्सान पहोंचा रहे है I

याद रहे छोटी मोती तकलीफों में हानिकारक औषधे देने से बच्चों का विकास नहीं हो सकता , ऐसे समय में निर्दोष आयुर्वेद औषध ज्यादा लाभकर होती है Iluna-marie-2-600x450


Here are some of our unique Ayurveda combination  

An Ayurveda Health tonics for Child's Optimum Health 



1 comments:

Post a Comment